Latest news
शिमला में गिले कूड़े से खाद बनाने के लिए बनेंगे चार प्लांट खुद बेरोजगार, लोगों को देगा रोजगार वाह रे तेरे वादे वाह रे तेरे वादे। समरबीर सिंह सिद्धू की जन आशीर्वाद रैली में उमड़े समर्थकों व वालंटियरों के सैलाब ने विरोधियों के उड़ा... 4 साल की मासूम को आवारा कुत्तों ने नोंचा ओबीसी आरक्षण पर बवाल, भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर नजरबंद एमएलए बनने की चाह ,कहीं शुरू होने से पहले ही ना खत्म कर दे राजनीतिक सफर।प्रयोग करो और फेक दो, शायद इ... केंद्रीय मंत्री सोम प्रकाश को मिला शिष्टमंडल ओडिशा में 5400 फूलों से बना सांता क्लॉज पंजाब में चुनावों से पहले बेअदबी की घटना से सूबे में माहौल खराब करने की कोशिश लुधियाना सिविल अस्पताल की स्टाफ नर्सें हड़ताल पर, सिविल सर्जन कार्यालय में दिया धरना


कल होगा साल का अंतिम चंद्र ग्रहण, जानिए भारत में कब-कहां और कितने बजे देगा दिखाई



नई दिल्ली-साल 2021 का अंतिम चंद्र ग्रहण देश के कई हिस्सों में शुक्रवार यानी 19 नवंबर को देखा जाएगा। भारत समेत दुनिया के कई देशों में भी सबसे लंबा चंद्र ग्रहण दिखाई देगा। 2021 का यह आखिरी चंद्र ग्रहण 580 सालों बाद सबसे लंबा चंद्र ग्रहण बताया जा रहा है। यह आंशिक चंद्रग्रहण होगा और 15वीं सदी के बाद सबसे लंबा चंद्र ग्रहण होगा। इतना लंबा चंद्र ग्रहण होने के पीछे खगोलविदों का मानना है कि धरती से चंद्रमा की दूरी ज्‍यादा होने के कारण 19 नवंबर को लगने वाले चंद्र ग्रहण की अवधि ज्‍यादा रहेगी। अंशिक चंद्र ग्रहण हिंदू कैलेडंर की तिथि के अनुसार कार्तिक पूर्णिमा के शुक्ल पक्ष (19 नवंबर) को दोपहर 12 बजकर 48 मिनट से शुरू होकर शाम 4 बजकर 17 मिनट तक चलेगा। अधिकतम आंशिक चंद्र ग्रहण दोपहर 2.34 बजे दिखाई देगा क्योंकि चंद्रमा का 97 फीसदी हिस्सा पृथ्वी की छाया से ढका रहेगा। यह चंद्र ग्रहण भारत में मणिपुर के इंफाल और आसपास के क्षेत्रों में कुछ समय के लिए दिखेगा। असम, अरुणाचल प्रदेश के क्षेत्रों में भी ग्रहण नजर आएगा। पिछले साल की तरह ही कार्तिक पूर्णिमा पर अंशिक चंद्र ग्रहण पड़ रहा है। यह एक शुभ दिन है जहां भक्त गंगा के पवित्र जल में डुबकी लगाते हैं और भगवान विष्णु की पूजा करते हैं। भारत से दिखाई देने वाला अगला चंद्रग्रहण नवंबर 2022 में होगा। 21वीं सदी में पृथ्वी पर कुल 228 चंद्र ग्रहण होंगे। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के अनुसार चंद्र ग्रहण साल में अधिकतम तीन बार ही हो सकता है। आंशिक चंद्र ग्रहण भारत समेत अमेरिका, आस्ट्रेलिया और यूरोप और एशिया के कुछ हिस्सों से भी दिखाई देगा। Timeanddate.com के अनुसार यह चंद्र ग्रहण अधिकांश रूप से यूरोप, एशिया, आस्ट्रेलिया, उत्तर/पश्चिम अफ्रीका, उत्तरी अमेरिका, दक्षिण अमेरिका, प्रशांत, अटलांटिक, हिंद महासागर समेत विश्व के अनेक हिस्सों में देखने को मिलेगा। बता दें कि आंशिक चंद्र ग्रहण तब होता है जब पृथ्वी सूर्य और चंद्रमा के बीच आ जाती है, लेकिन इस दौरान तीनों खगोलीय पिंड अंतरिक्ष में एक सीधी रेखा नहीं बनाते हैं।

53 Views

Leave a Reply

error: Content is protected !!