Breaking News

फाजिल्का के गांव सुरेश वाला के जी ओ जी का फार्म भरने और100 रुपए फीस लेने का वीडियो वायरल। सरपंच ने की शिकायत







बीते दिनो फाजिल्का के माननीय डिप्टी कमिश्नर ने पुलिस को आदेश दिया था जिला फाजिल्का में कुछ लोग पराली वाले फार्म ऑनलाइन करके ऑनलाइन अपडेट किए और लोगों के खातों में पैसे आ गए परंतु यह रैकेट कुछ लोगों द्वारा सरकारी  वेबसाइट  की आईडी और पासवर्ड लेकर लोगों के फॉर्म ऑनलाइन किए जिस पर संज्ञान लेते हुए डिप्टी कमिश्नर फाजिल्का  ने पुलिस को जांच के आदेश दिए जिस पर कार्य करते हुए पुलिस ने कई जगहों पर छापामारी कर कंप्यूटर जब्त कर केस दर्ज किए और दूसरी तरफ पंजाब सरकार द्वारा पंचायतों के कामकाज पर निगरानी रखने के लिए रिटायर्ड फौजी को पंचायतों पर जी ओ जी लगा दिए परंतु जिला फाजिल्का के गांव सुरेश वाला के पर जी ओ जी की एक वीडियो वायरल हुई जिसमें वह फार्म भर रहा है और 100 /- फीस लेने की बात इस वीडियो में साफ-साफ दिखाई दे रही है। हैरान करने वाली बात यह है कि सरकार द्वारा जिनको पंचायत के ऊपर देखरेख के लिए लगाया गया है वह जी ओ जी जी खुद ही ऐसे कार्य कर रहा है जो काम सरकार द्वारा करने की मनाही है।

क्या है पूरा मामला।

सरपंच कुलबीर सिंह ने बताया कि पंजाब सरकार द्वारा सेवानिवृत सैनिक गिरधारी लाल को गांव में जीओजी लगाया गया उक्त व्यक्ति सरकारी की हिदायतों के विपरीत लोगों को गुमराह करके बीमा कार्ड और पैंशन बनाने के फार्म भरने के बहाने लोगों से 100 रुपए से  लेता रहा है। जिसके लिए उसने उनको रोका था और उसके बाद इसने अपनी ठगी को ओर बढ़ाने के लिए हमारे गाँव में ही एक दुकान किराये पर ले कर वहां लैपटोप ले कर बैठ गया और लोगों को किसी को पक्के मकान की अनुदान दिलाने का झांसा देकर और किसी को मोदी स्कीम के अंतर्गत अनुदान दिलाने बारे और अब नई स्कीम पराली जलाने को रोकने के लिए जो 25,00 रुपए सरकार प्रति एकड़ देने का ऐलान किया उसके फार्म आनलाईन करने लग गया और लोगों से काफी पैसे इकट्ठे करता रहा है। किसी से 200 /-रुपए  और किसी से 100 /-रुपए ले कर अपने बाकायदा रजिस्टर पर भी लिखता रहा। जिसको जब सरपंच ने मौके पर जा कर रोका तो यह आगे से उल्टा बोलता रहा। जबकि उन्होंने उसकी बात बीडीपीओ के साथ भी कराई तो उन्होंने भी इसको कहा कि तेरी ड्यूटी विकास के कार्यो पर निगरानी रखने की है और लोगों के साथ ठगी मार कर पैसे इकठ्ठा कर रहा है, यह गलत है। इस प्रकार जीओजी गिरधारी लाल ने उसके गाँव व साथ लगते गाँवों के लोगों के साथ काफी ठगी मारी है। जिसके रिकार्ड की सरपंच ने वीडियो भी बनाई हुई है और मूवी भी बनाई है तथा अब यह यहां से लैपटॉप वगैरह ले कर फरार हो गया है। अगर उसके साथ सख्ती से सरकारी तौर पर पूछताछ की जाये तो काफी ठगियों का पता चल सकता है। सरपंच कुलबीर सिंह ने अधिकारियों से मांग की कि उक्त जीओजी गिरधारी लाल के खिलाफ लोगों को गुमराह करके ठगी मारने, अपने विभाग के दिए अधिकारों का दुरुपयोग करने और सरकार को नुकसान पहुंचाने संबंधी बनती कानूनी कार्यवाही की जाये।

 

 

 

 

 

 

 

क्या कहते हैं बीडीपीओ

इस मामले में जब फाजिल्का के बीडीपीओ प्रवेश सिंह से बात की गई तो उन्होंने बताया कि गांव सुरेश वाला के सरपंच कुलबीर सिंह द्वारा वीडियो और एक शिकायत दी गई है जिसमें जिओ जी गिरधारी लाल फार्म भर रहा है शिकायत मेरे पास आ चुकी है और जांच के बाद बनती कार्रवाई की जाएगी

एक सवाल का जवाब देते हुए  बीडीपीओ ने बताया कि जी ओ जी का काम होता है पंचायत द्वारा गांव में किए गए विकास कार्यों की जांच करना परंतु कोई भी जी ओ जी कोई भी सरकारी फार्म  नहीं भर सकता

क्या कहते हैं डीएसपी फाजिल्का

उक्त मामले पर डीएसपी फाजिल्का श्री जगदीश कुमार से बात की गई उन्होंने बताया कि उन्होंने कुछ वीडियो व्हाट्सएप पर देखी हैं जिसमें जी ओ जी सो रुपए लेने की बात मान रहा है परंतु अभी तक उनके पास विभाग या मुद्दई सरपंच कुलबीर सिंह के द्वारा कोई शिकायत नहीं दी गई है। उनके पास इस मामले म कोई शिकायत आती है तो बनती कार्रवाई की जाएगी।

इस मामले में क्या कहता है जी ओ जी गिरधारी लाल
 वीडियो वायरल होने के बाद इस मामले में जब सेवानिवृत सैनिक जी ओ जी गिरधारी लाल से बात की गई उसने माना कि वह फार्म भरता है। लेकिन मोदी स्कीम (पीएम के) वाले फार्म भरता है और वह फार्म कोई भी व्यक्ति अपने मोबाइल के लैपटॉप से भर सकता है और सो रुपए लेने वाली वाली बात पर उसने बताया कि वह 50/-रुपए प्रति फार्म फीस लेता है क्योंकि वह फार्म अप्लाई करता है और अपना खर्चा लेना वाजिब है जब उनसे सरपंच द्वारा वीडियो बनाए जाने पर जी ओ जी गिरधारी लाल द्वारा लैपटॉप लेकर जाने की बात कही तो उसने कहा कि उनको बीडीपीओ ने कहा कि वह कोई फार्म नहीं भर सकता इसलिए वह चला गया।

67 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!