Latest news

स्वामी कमलानंद का सिद्ध श्री हनुमान मंदिर में पहुंचने पर पुष्प वर्षा कर किया गया स्वागत 







Swami Kamalanand was welcomed by reaching the Siddha Shri Hanuman temple with a flower shower

फाजिलका-(दलीप दत्त)- हरिद्वार से आए पावन सानिध्य परम श्रद्धेय महामंडलेश्वर 1008 स्वामी श्री कमलानंद गिरी जी महाराज का आज़ कालेज रोड स्थित श्री सनातन धर्म महावीर दल सिद्ध श्री हनुमान मंदिर में पहुंचने पर मंदिर कमेटी के सभी सदस्यों द्वारा पुष्प वर्षा कर स्वागत किया गया। इस बारे में जानकारी देते हुए मंदिर कमेटी के अध्यक्ष देवेन्द्र सचदेवा ने बताया कि मंगलवार प्रातः 9 बजे स्वामी कमलानंद गिरी जी महाराज मंदिर प्रांगण में पहुंचे। इस अवसर पर मंदिर कमेटी के सभी सदस्यों द्वारा महाराज जी का पुष्प वर्षा कर स्वागत किया गया। इस अवसर पर स्वामी कमलानंद जी महाराज ने प्रवचन करते हुए बताया कि जहां जाकर मनुष्य की बुद्धि की सीमा समाप्त होती है। वहीं से भगवत प्राप्ति का मार्ग प्रारम्भ होता है। बुद्धि से संसार के सारे कार्य किए जा सकते हैं। पर भगवत प्राप्ति के लिए त्याग, प्रेम, समर्पण और विश्वास समर्पण चाहिए। महाराज ने बताया कि ईश्वर प्राप्ति का मार्ग शिक्षा से नहीं दीक्षा के माध्यम से प्राप्त होता है। शिक्षा भौतिक जगत में जीने का ढंग बताती है।

 और दीक्षा भगवत प्राप्ति का मार्ग प्रशस्त करती है। उन्होंने राम भक्त हनुमान जी के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी।  इसके उपरांत आरती हुई। स्वामी कमलानंद जी महाराज व सभी सदस्यों ने मिलकर आरती की। आरती उपरांत मंदिर कमेटी के सभी सदस्यों ने स्वामी कमलानंद जी महाराज से आशीर्वाद प्राप्त किया। इस अवसर पर मंदिर कमेटी के सभी सदस्यों द्वारा महाराज जी का मंदिर पहुंचने पर आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर मंदिर कमेटी की ओर से स्वामी कमलानंद जी महाराज, स्वामी गिरीशानंद गिरी जी का मान सम्मान किया गया।  इस अवसर पर श्री बालाजी धाम के सचिव नरेश जुनेजा को मंदिर कमेटी की ओर से सम्मान चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। इस मौके पर अर्जुन देव कुक्कड़, दुर्गा दास गोयल, राजा राम सचदेवा, हरीश ठकराल काली, विपिन मक्कड़, अशोक चुचरा, एडवोकेट सुभाष कटारिया, अलोक नागपाल, सतीश सचदेवा, लाल चंद अग्रवाल, राजिंद्र जलंधरा, अनु कवातडा, संजू कवातडा, जिलेश ठठई लक्की, राकेश कामरा आदि उपस्थित थे।

19 Views


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!