खेती आर्डिनेंस पर शिव सेना बाल ठाकरे ने दिखाये तेवर

–महाराष्ट्र में शिवसेना ने भाजपा का साथ छोड़ा था और अब पंजाब में हरसिमरत कौर बादल का इस्तीफा भी इसी ओर करता है इशारा: उमेश कुमार

–जल्द ही किसान संगठनों से शिवसेना मालवा जोन के प्रभारी उमेश कुमार द्वारा की जाएगी मुलाकात

फाजिलका-(दलीप दत्त)-शिवसेना के पंजाब उप प्रमुख गोपाल सिंगला, मालवा जोन प्रभारी उमेश कुमार व मालवा जॉन सह प्रभारी विक्की मिड्डा ने कृषि आर्डिनेंस मुद्दे पर तेवर दिखाते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बरसते हुए कहा कि पहले ही देश को कॉर्पोरेट घरानों के हवाले कर दिया गया है, अब देश में किसानी ही बची थी उसे भी केंद्र की मोदी सरकार द्वारा कारपोरेट घरानों के हाथों में बेचने की तैयारी की जा रही है। जिसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। शिवसेना के मालवा जोन प्रभारी उमेश कुमार ने कहा कि शिवसेना किसान विरोधी बिल का पूर्ण रूप से विरोध करती है, जो तीन बिल पास हुए हैं। किसी ने भी एमएसपी की गारंटी नहीं दी गई है। बिल में एमएसपी का जिक्र ही नहीं है। यह पूर्ण रूप से किसान विरोधी बिल है। उन्होंने कहा कि पंजाब के जवान बॉर्डर पर लड़ रहे हैं और किसान यहां सरकारों से। पंजाब में यूपी बिहार से दो तीन एकड़ वाले किसान पंजाब में रोजगार के लिए आते हैं क्योंकि वहां पर उनको फसलों का एमएसपी नहीं मिलता। यही हाल अब पंजाब में भी होगा। छोटा किसान कार्पोरेट घरानों के मजदूरी करने के लिए ही रह जाएगा। मालवा जोन प्रभारी उमेश कुमार ने कहा कि यह मोदी सरकार एजेंडा है कि कारपोरेट घरानों के लिए लेबर के प्रबंध करने क कैसे किया जाए। मोदी सरकार किसानों को पूर्ण रूप से मार नहीं रही है। बस उनको निचोड़ रही है। यह सरकार पूर्ण रूप से कार्पोरेट घरानों के व्यापारियों की सरकार है। उन्होंने कहा कि आज कोविड-19 के दौरान पहले ही अर्थव्यवस्था का बुरा हाल है। जीडीपी कहां पर पहुंच गई है पर मोदी सरकार को हर स्टेट में अपनी सरकार चाहिए चाहे उसके लिए कोई भी हथकंडे अपनाने पड़ें। पिछले दिनों देखने में मिला मध्यप्रदेश, राजस्थान, महाराष्ट्र में कंगना रानोत के जरिए सरकार पर हमला किया गया और पूर्ण रूप से राजनीतिक रूप दिया गया। जब भी देश में किसी भी स्टेट या केंद्र में इलेक्शन हो रहे हो तो या बॉर्डर पर हलचल होती है। यह अपनी महत्वाकांक्षा के लिए जवानों और किसानों को भी नहीं छोड़ रहे। शिवसेना बाल ठाकरे के मालवा जोन प्रभारी उमेश कुमार ने कहा कि जल्द ही किसानों से मुलाकात करके उनके साथ मिलकर पूरे प्रदेश में केंद्र सरकार के खिलाफ मुहिम शुरू की जाएगी। पंजाब प्रमुख योगराज शर्मा के दिशानिर्देश अनुसार पूरे पंजाब में इस बिल के विरोध में मुहिम चलाई जाएगी। पंजाब उपाध्यक्ष गोपाल सिंगला ने कहा की इस बिल के विरोध में जल्दी ही रणनीति तैयार की जाएगी।

94 Views



error: Content is protected !!