संक्रमण के साथ तेज हुआ सैंपलिंग अभियान

फाजिलका-(दलीप दत्त)-जिले में कोविड संक्रमण के साथ ही सेहत विभाग ने कोविड सैंपलिग का अभियान तेज कर दिया है। लोग लक्षण नजर आने के बावजूद घबराहट के चलते सैंपलिग नहीं करवा रहे, जिसके चलते लोगों को हर स्तर पर जागरूक किया जा रहा है। डब्वाला कलां के एसएमओ डा. पंकज ने बताया कि आम तौर पर गांवों के लोग लक्षण जैसे बुखार, खांसी और जुखाम होने पर टेस्ट नहीं करवाते बल्कि घर पर ही अपने आप इलाज करते हैं जो कि खतरनाक भी हो सकता है। सेहत विभाग की ओर से कोविड की रिपोर्ट पाजिटिव आने पर फतेह किट दी जाती है। लेकिन अगर वो घर में ही अपना इलाज करता है, तो तबीयत ज्यादा खराब होने पर पूरे परिवार को दिक्कत का सामना करना पड़ता है। टेस्ट न करवाने पर मौके पर यह भी पता नहीं चलता कि मरीज पाजिटिव है या नेगेटिव। इसलिए लक्षण आने पर टेस्ट जरूर करवाना चाहिए। ब्लाक मास मीडिया इंचार्ज दिवेश कुमार ने बताया कि गांव स्तर पर विभाग में आशा वर्कर व हेल्थ वर्करों की टीम काम कर रही है। इसके साथ रोज गांवों में मोबाइल टीम लोगों के सैंपल ले रही है। सही समय पर सैंपलिग से पूरे परिवार को बचाया जा सकता है। जिसके लिए अगर कोई मरीज के संपर्क में रहा हो और सैंपल दिया हो तो जब तक रिपोर्ट न आये वो खुद को अलग रखे और बाहर के काम आदि ना करे, क्योंकि जब तक रिपोर्ट आएगी और वह पॉजिटिव होगी तो सक्रमण काफी लोगों को फैल जाएगा। जिसके लिए कोरोना की चेन तोड़ने के कोशिश होनी चाहिए।

32 Views

Leave a Comment




error: Content is protected !!