Latest news

विभिन्न गाँवों में कांट्रैक्ट वर्करोंं की तरफ से अपने परिवारों और बच्चों समेत वेतन 27 माइनर वर्क हैड में से देने के पत्र की कापियों जला कर किया संकेतक रूप में रोश प्रदर्शन







 

जलालाबाद/फाजिलका-(दलीप दत्त)-जल सप्लाई और सैनीटेशन कांट्रैक्ट वर्कर्स यूनियन (रजि.31) पंजाब की स्टेट समिति के फैसले के अंतगर्त संबंधित विभाग द्वारा कांट्रैक्ट वर्करों को पहले वेतन दे रहे 02 वेजिज 2215 हैड को बदल कर अब मार्च – 2020 महीने से 27 माइनर वर्क हैड (ठेकेदार वाले हैड) में से देने के फैसले का विरोध करते हुए आज जिला फाजिल्का के अलग अलग गाँवों में जल सप्लाई स्कीमों पर तैनात ठेका अधारित वर्करों की तरफ से अपने परिवारों और बच्चे समेत अपने अपने घरों में कोरोना महामारी की रोकथम के लिए लगे लाकडाऊन और कफ्र्यू के मद्देनजर सोशल डिस्टैसिंग का ध्यान रखते हुए वेतन संबंधी बदले हैड के जारी पत्र की कापियां जला कर सांकेतक रूप में रोष व्यक्त किया गया। इस संबंधी जानकारी देते हुए जि़ला प्रधान जसविन्दर सिंह चक्क जानीसर और ब्रांच जलालाबाद के प्रधान गुरमीत सिंह आलमके ने कहा कि ग्रामीण जल घरों में सेवाएं दे रहे कांट्रैक्ट वर्करों को 02 वेजिज 2215 हैड में से वेतन दिया जाएँ, वर्करों को विभाग में शामिल करके रैगुलर किया जाये, वर्तमान हलातों के दौरान वर्करों के ड्यूटी दौरान बचाव के लिए पी.पी.ई. किटें, मास्क, सैनीटायजर, गलवज दिए जाएँ। किरत कानून के अंतर्गत साप्ताहिक रैस्ट या ओवर टाईम का भत्ता दिया जाये। 50 लाख रुपए का वर्कर का बीमा और परिवार का मुफ्त इलाज किया जाये। अगर वर्कर की कोरोना महामारी दौरान ड्यूटी करने पर मौत हो जाती है तो उसके परिवार को 1 करोड़ रुपए और सरकारी नौकरी दी जाये। वर्कर को 24 घंटे ड्यूटी करने के बदले बोनस या मानभत्ता दिया जाये। इस दौरान प्रांतीय प्रैस सचिव सतनाम सिंह फलियांवाला, जिला महासचिव दफ्तरी स्टाफ सुखचैन सिंह सोढी, ब्रांच फाजिल्का के प्रधान परमजीत सिंह, ब्रांच के कोषाध्यक्ष राकेश सिंह हीरेवाला ने भी कहा कि स्टेट समिति की तरफ से वर्करों के हितों में किए जाने वाले एक्शनों में बढ़ चढ़ कर सहयोग किया जाएगा।

36 Views


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!