कोविड महामारी दौरान मासूम बच्ची के लिए आर.बी.एस.के. योजना बनी जीवनदान

फाजिलका-(दलीप दत्त)-दिल के रोग से पीडित एक साल की सहजप्रीत कौर के लिए कोविड महामारी और इस का महंगा इलाज बड़ी मुसीबत बन कर आया परंतु स्वास्थ्य विभाग द्वारा राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य प्रोग्राम के अंतर्गत न केवल सहजप्रीत का इलाज करवाया गया बल्कि उस के परिवार वालों को भी राहत दवा जो कि पिछले काफी महीनों से इलाज के लिए तड़प रहे थे। मुसीबत के बावजूद भी इस मासूम का राज्य के निजी अस्पताल फोर्टिस मोहाली में दिल के छेद का सफल आप्रशेन हुआ। इस नेक काम में अरनीवाला की टीम के इंचार्ज डा. अशीष ग्रोवर और सिविल सर्जन दफ्तर में तैनात अरनीवाला के कोआर्डिनेटर बलजीत सिंह का अहम योगदान रहा। इस बारे जानकारी देते डा. अशीष ग्रोवर ने बताया कि एक साल की बच्ची के दिल में छेद था जिस के चलते उस की प्राइमरी रिपोर्ट करवाई गई हलाकि उस समय कोविड की दूसरी लहर होने के कारण आप्रेशन का समय नहीं मिल रहा था परंतु कोशिशों के बावजूद जुलाई /अगस्त का समय फोर्टिस अस्पताल में मिला। इस का खर्चा सरकारी योजना और के अंतर्गत सरकार द्वारा किया गया है। जिस में मरीज का एक रुपया भी खर्च नहीं आया है। डा. अशीष ग्रोवर ने बताया कि शनिवार को टीम ने बच्ची के घर का दौरा करके उस का हाल चाल जाना। इस मौके परिवार वालों ने खुशी प्रकट करते हुए कहा कि यह योजना बच्ची के लिए नया जीवन ले कर आई है। बच्ची के पिता बलजीत सिंह ने बताया कि उस का मुफ्त इलाज हुआ है जबकि प्राईवेट तौर पर इस का खर्चा 4 लाख के करीब था जो कि उन के बस से बाहर की बात थी। एस.एम.ओ. डा. करमजीत सिंह ने टीम की प्रशंसा करते हुए कहा कि ब्लाक डब्बवाला कला की टीम का काम काबिले तारीफ है जिस के चलते आर.बी.एस.के. योजना मासूम बच्ची के लिए वरदान साबित हुई है। राष्ट्रीय बाल सेहत प्रोग्राम के अंतर्गत राज्य सरकार के सहयोग से यह स्कीम चल रही है। इस में आंगणबाड़ी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों में रजिस्टर्ड (0 से 18) साल तक के बच्चों का इलाज मुफ्त में किया जाता है। इस के अलावा जो बच्चों में जन्मजात बीमारियां, दिल की बीमारियां, मन्दबुद्धि, बोलने में देरी, दांतों की बीमारियां, टेड़े पैर, रीढ़ की हड्डी में सूजन सहित 30 बीमारियों का इलाज मुफ्त में किया जाता है। इस के अलावा बड़े आप्रेशनों के लिए पंजाब के 9 सरकारी और प्राईवेट अस्पतालों को सूचीबद्ध किया गया है। ब्लाक मास मीडिया इंचार्ज दिवेश कुमार ने बताया कि लोग सरकारी स्कीमों का लाभ ले रहे हैं और लोगों में स्वास्थ्य सहूलतों के बारे में जागरूकता बढ़ी है। ब्लाक डब्बवाला के अधीन पड़ते स्कूलों में बच्चों की आंखों के चश्मे और कानों की मशीनें भी मिल रही हैं।

32 Views

Leave a Comment

error: Content is protected !!