जिला मैजिस्ट्रेट की तरफ से रात और हफ्तावारी कर्फ्यू समेत अन्य पाबंदियां को 15 मई तक बढ़ाने के आदेश

-जिला मैजिस्ट्रेट की तरफ से रात और हफ्तावारी कर्फ्यू समेत अन्य पाबंदियां को 15 मई तक बढ़ाने के आदेश

-सभी गैर जरूरी यातायात और गतिविधियां रहेंगी बंद

-निर्धारित जरूरी सेवाओं को कर्फ्यू दौरान छूट हर तरह के सामाजिक, सांस्कृतिक और खेल भीड़ पर पाबंदी

फाजिलका-(दलीप दत्त)- जिला मैजिस्ट्रेट अरविंदपाल सिंह संधू ने ग्रह और न्याय विभाग, पंजाब सरकार द्वारा जारी निर्देशों के अंतर्गत कोविड-19 महामारी के फैलाव को रोकने के लिए दिए गए आदेशों की लगातारता में लगाई पाबंदियां 15 मई 2021 तक बढ़ाने के आदेश जारी किए हैं। जारी आदेशों में जिला मैजिस्ट्रेट द्वारा जिले में रोज रात के कर्फ्यू में आम लोगों की गैर जरूरी यातायात पर शाम 6 बजे से प्रातःकाल 5 बजे तक पाबंदी लगा दी है जबकि साप्ताहिक कर्फ्यू शुक्रवार शाम 6 बजे से सोमवार प्रातःकाल 5 बजे तक लागू रहेगा। उन्होंने कहा कि इस दौरान जिले की हद में गैर जरूरी यातायात और सभी गैर जरूरी गतिविधियां बंद रहेंगी। आदेशों अनुसार बसों, टैकसियों और आटो में लोगों के बैठने की संख्या की समर्थता का 50 प्रतिशत रखी जाए। जिला मैजिस्ट्रेट ने कहा कि जिले में सभी बार, सिनेमा हाल, जिम, सपा, कोचिंग सैंटर, स्पोर्टस कांप्लैक्स बंद रहेंगे। सभी रैस्टोरैंट, होटलस, कैफे, काफी शाप, फास्ट फूड आऊटलेट आदि में बैठ कर खाने की प्रवाणगी नहीं होगी जबकि रात 9 बजे तक टेक अवे और होम डलिवरी की आज्ञा होगी। उन्होंने कहा कि माल और मल्टीप्लेक्स में स्थित दुुकानें समेत सभी दुकानों शाम 5 बजे बंद करनी लाजिमी होंगी और सभी साप्ताहिक बाजार और अपनी मंडी बंद रहेगी। उन्होंने कहा कि सभी तरह के सामाजिक, सांस्कृतिक और खेल भीड़ आदि प्रोग्रामों ते पाबंदी रहेगी। विवाह /अंतिम संस्कार मौके 20 से अधिक व्यक्तियों की भीड़ पर पाबंदी लगाई गई है। इस के अलावा अंतिम संस्कार को छोड़ कर 10 से अधिक व्यक्तियों की भीड़ के लिए जिला प्रशासन की अग्रिम मंज़ूरी लाजिमी कर दी गई है। यह मंज़ूरी संबंधी एस.डी.एम द्वारा दी जाएगी। जिला मैजिस्ट्रेट ने राजनैतिक भीड़ पर पूर्ण पाबंदी लगाने के आदेश किए हैं। उल्लंघन करने पर आयोजकों, शामिल होने वालों, आयोजन स्थान के मालिक, टैंट हाऊस के खिलाफ डी.एम.ए. और महामारी (एपीडैमिकस) एक्ट के अंतर्गत मुकदमा दर्ज किया जाएगा। इस के अलावा आयोजन स्थान को 3 महीनों के लिए सील कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि वह व्यक्ति जो कहीं भी बड़े धार्मिक, राजनैतिक और सामाजिक जलसे में शामिल हुए हैं, उन को घर वापसी ते प्रोटोकोल अनुसार 5 दिनों के लिए घर में एकांतवास में रहना पड़ेगा। उन्होंने जिले के सभी शैक्षिणक संस्थानों, स्कूल और कालेज आदि 16 मई तक बंद रखने के आदेश किए हैं परन्तु टीचिंग और नान -टीचिंग स्टाफ सभी कामकाज वाले दिन उपस्थित रहेंगे। जबकि मैडीकल और नर्सिंग कालेज खुले रहेंगे और सभी तरह की भर्ती परीक्षाएं मुुलतवी कर दीं गई हैं। उन्होंने कहा कि सेवा उद्योग सहित सभी निजी दफ्तरों जिन में आर्किटैकट, चार्टड अकाउंटैंट, इंशोरैंस कंपनी को केवल घर से काम करने की आज्ञा है। उन्होंने कहा कि सभी सरकारी और प्राईवेट दफ्तरों में काम कर रहे जिन कर्मचारियों की उम्र 45 साल से अधिक है और उन पिछले 15 दिनों या इस से अधिक दिनों में वैक्सीन की कोई डोज नहीं लगवाई है, उन को छुट्टी ले कर घर में रहने के लिए प्रेरित किया जाए, जितनी देर तक वह वैक्सीन नहीं लगवाते। इस के अलावा जिन कर्मचारियों की उम्र 45 साल से कम है और आर.टी. -पी.सी.आर. की रिपोर्ट (पांच दिनों से अधिक पुुरानी न हो) निगेटिव है, उन को ही दफ्तर में आने की आज्ञा होगी और जिन कर्मचारियों की आर.टी. -पी.सी.आर. रिपोर्ट पॉजिटिव होगी, उन को घर में रहने के लिए प्रेरित किया जाए। सभी सरकारी दफ्तरों में व्यक्तिगत तौर पर लोगों की शिकायतों के निपटारे व पाबंदी लगाते हुए इस मकसद के लिए आनलाइन और वर्चुअल तरीके अपनाने के लिए कहा गया है। जिला मैजिस्ट्रेट अरविंदपाल सिंह संधू ने कहा कि पाबंदियों दौरान कोविड स्वास्थ्य हिदायतों की पालना करते हुए अस्पताल, पशु अस्पताल, पब्लिक और प्राईवेट सैक्टर में दवाईयां, मैडीकल उपकरणों के मैनुफैक्चरिंग और सप्लाई की यातायात को छूट रहेगी और कैमिस्ट की दुकानों, जरूरी वस्तुओं की दुकानों जैसे दूध, डेयरी उत्पाद, पोल्ट्री, मीट, सब्जी और फल आदि की दुकानें खुलीं रहेंगी। इस के अलावा निर्माण उद्योग और इस में काम करने वाले कर्मचारी, लेबर, वाहनों के अलावा रेल, हवाई जहाज और बसों से आने-जाने वाले यात्रियों को यातायात से छूट रहेगी। जारी आदेशों में उन शहरों और गांवों में निर्माण गतिविधियों, कृषि, अनाज की खरीद, बागबानी, पशु पालन, पशुओं के इलाज, ई -कामर्स गतिविधि और सामान का यातायात, वैक्सीनेशन आउट रिच कैंप आदि को छूट दी है। इस के अलावा पेट्रोल पंप, पेट्रोल उत्पादन, एल.पी.जी., टेलीकम्यूनिकेशन, इन्टरनेट सर्विस, ब्राडकास्टिंग और केबल सर्विस, आई.टी. और आई. टी. से संबंधित सेवाओं,पावर जनरेशन, ट्रांसमिशन के यूनिट सप्लाई और सेवाएं, कोल्ड स्टोरेज और वेयर हाउसिंग सेवाएं, सभी बैंकिंग, आर.बी.आई. सर्विस, ए.टी.एम., कैश वैन और कैश डिलिवरी आदि सेवाओं को पाबंदी दौरान छूट रहेगी। जिला मैजिस्ट्रेट ने कहा कि कोविड महामारी के बढ़ते मामले गंभीर चिंता का विषय है, जिस के मद्देनजर बाजार, सार्वजनिक ट्रांसपोर्ट आदि समेत सभी गतिविधियों में लरूरी सावधानियां अपनाई जाएं, जिस में 6 फुट की सामाजिक दूरी पर मास्क पहनना यकीनी बनाया जाए। उन्होंने कहा कि भीड़ वाले स्थानों पर जाने से गुरेज किया जाए या यदि अधिक जरूरी हो तो ही घर से बाहर निकला जाए। इस के अलावा सार्वजनिक काम वाले स्थानों पर मास्क पहनने, सार्वजनिक स्थानों पर न थूकने और समय -समय पर हाथ साबुन और सैनेटाईजर के साथ साफ करना यकीनी बनाया जाए। उन्होंने कहा कि इन आदेशों, पाबंदियों का उल्लंघन करने वालों विरुद्ध आपदा प्रबंधन मैनेजमेंट एक्ट 1860 की धारा 51 से 60 तक आई.पी.सी. की धारा 188 के अंतर्गत कानूनी कार्यवाही की जाएगी।

41 Views

Leave a Comment




error: Content is protected !!