Breaking News

महात्मा गांधी सरबत विकास योजना कैंप के दौरान अलग-अलग भलाई स्कीमों के लिए 950 आवेदन पत्र प्राप्त हुए







– योग्य लाभपात्रियों को भलाई योजनाओं का मिलेगा लाभ- हरकंवलजीत सिंह

फाजिलका-(दलीप दत्त )-डिप्टी कमिश्नर मनप्रीत सिंह छत्तवाल के दिशा-निर्देशों के अंतर्गत कार्यालय ब्लाॅक विकास और पंचायत अधिकारी अरनीवाला शेख सुभान में महात्मा गांधी सरबत विकास योजना के अंतर्गत कैंप लगाया गया। कैंप के दौरान जिला विकास और पंचायत अधिकारी हरकंवलजीत सिंह द्वारा विशेष तौर पर समूलियत की गई। हरकंवलजीत सिंह ने बताया कि सरकार की अलग-अलग भलाई योजनाओं का एक प्लेटफार्म पर लोगों को लाभ मुहैया करवाने के लिए लगाए कैंप के दौरान 950 नागरिक उपस्थित हुए। उन्होंने बताया कि अलग-अलग विभागों के साथ प्राप्त हुए आवेदन पत्र को समयबद्ध ढंग के साथ जाँच करने के बाद योग्य लाभपात्रियों को सरकार की फलैगशिप स्कीमों का पारदर्शी ढंग के साथ लाभ दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि कैंप में अलग-अलग स्कीमों जैसे प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण, 5-5 मरले प्लाट, मगनरेगा जोब कार्ड, पी.एस.पी.सी.एल, शिक्षा विभाग, खुराक और सिविल सप्लाई, सी.डी.पी.ओ कार्यालय, जिला सामाजिक सुरक्षा कार्यालय, वाटर सप्लाई, डी.सी.पी.ओ, कृषि विभाग, स्वास्थ्य विभाग, लीड बैक मैनेजर, जिला उद्योग केंद्र, जिला रोजगार और प्रशिक्षण विभाग आदि द्वारा फार्म भरे गए। उन्होंने बताया कि कैंप के दौरान प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के अंतर्गत आवास दिवस भी मनाया गया, जिसमें सरकार द्वारा अावास योजना के अंतर्गत मुहैया करवाए जाने वाले लाभ के बारे में लोगों को अवगत करवाया गया।


उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत लाभपात्रियों को मकान बनाने के लिए तीन किश्तों में कुल 1,20,000 की सहायता राशि दी जाती है। उन्होंने बताया कि पहली किश्त 30,000 रुपए मकान की प्रवानगी मिलने के बाद, दूसरी किश्त 72,000 रुपए दीवारों के लैंटर स्तर पर पहुँचने तक और तीसरी किश्त 18,000 रुपए घर पूरा मुकम्मल होने के बाद दी जाती है। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री अवास योजना (ग्रामीण) की ओर ज्यादा जानकारी वैबासाईट से ली जा सकती है। इस मौके बी.डी.पी.ओ हरजीत सिंह, जिला प्रोग्राम मैनेजर सुरेश कुमार, ब्लाॅक कोआर्डिनेटर विवेक वर्मा के अलावा दूसरे अलग-अलग विभागों के अधिकारी और कर्मचारी मौजूद थे।

12 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!