शिविर में संत जगदीश मुनि जी द्वारा बिना दवाई विभिन्न रोगों का किया जाएगा इलाज

फाजिलका-(दलीप दत्त)-निरोग जीवन संस्थान के संचालक संत जगदीश मुनि द्वारा परम हंस संत बाबा बसंत ङ्क्षसह जी भूरी वाले महाराज की याद को समॢपत विभिन्न रोगियों का 465वां अद्भुत चिकित्सा शिविर समूह इलाका वासियों के सहयोग से गुरुद्वारा श्री भोरा साहिब, निकट औड़, गांव माहल खुर्द जिला नवांशहर में 15 सितम्बर से 25 सितम्बर तक लगाया जा रहा है। इस शिविर में संत जगदीश मुनि जी द्वारा सेवाएं देते हुए न्यूरो हीलिंग पद्धति से मरीजों का उपचार किया जाएगा। इस संबंधी जानकारी देते हुए निरोग जीवन संस्थान के उतराधिकारी पवन मुनि ने बताया कि शिविर में संत जगदीश मुनि जी व उनकी टीम द्वारा बिना दवाई रेकी व न्यूरो पद्धति के जरिए रोगियों का उपचार किया जाएगा। कैंप में प्रतिदिन प्रात: 8 से दोपहर 12 व सायं 3 से सायं 6 बजे तक रोगियों की निशुल्क जांच की जाएगी। जानकारी अनुसार इस कैंप में सिरदर्द, माइग्रेन, डिप्रैशन, सरवाइकल, कमर दर्द, घुटने व कंधे का दर्द, आंख, नाक, कान, गले व पेट संबंधी आदि रोगों का उपचार किया जाएगा। शिविर में रोगियों का इलाज न्यूरो हीलिंग पद्धति से किया जाएगा। इस कैंप में रोगियों को सुबह 5 से 6 बजे तक योगा व मैडीटेशन करवाया जाएगा। शिविर में गेंहू से एलर्जी व सीपी रोगियों का विशेष रूप से उपचार किया जाएगा। इस संबंधी जानकारी देते हुए संत जगदीश मुनि जी ने कहा कि निरोग जीवन संस्थान की तरफ से स्वस्थ भारत खुशहाल भारत मिशन के तहत कैंप का आयोजन किया जा रहा है जिसमें बिना किसी दवाई के विभिन्न रोगों का इलाज किया जाएगा। उन्होंने कहा कि न्यूरो हीलिंग पद्धति एक ऐसी चमत्कारिक पद्धति है जिसमें सभी रोगों का इलाज संभव है। उन्होंने कहा कि लोगों को न्यूरो हीलिंग पद्धति पर विश्वास करना चाहिए और इस पद्धति से इलाज करवाने के लिये आगे आना चाहिए। संत जी ने कहा कि न्यूरो हीलिंग पद्धति रोग को दबाती नहीं बल्कि रोग को हमेशा हमेशा के लिये जड़ से खत्म कर देती है। 

79 Views

Leave a Comment

error: Content is protected !!