फाजिल्का में 2 कांग्रेसी पार्षदों की फोटो खिंचवाने को लेकर आपसी तू तू-मैं मैं का वीडियो हुआ वायरल।

-जल्द ही आने वाले समय में इनकी ब्लॉक प्रधानगी भी जाने वाली है-:पार्षद गोल्डी झांब
फाजिल्का-(दलीप दत्त)पंजाब में हाल ही में संपूर्ण हुए नगर कौंसिल के चुनावों में फाजिल्का में कांग्रेस ने 25 वार्डों में से 17 वार्डों में कांग्रेस ने अपना परचम लहराया और अपने बलबूते पर कांग्रेसी ने अपना बोर्ड  बना लिया। इन नगर कौंसिल के चुनावों में भी टिकटो को लेकर भी कांग्रेस की आपसी फूट खुलकर सामने आई थी और आज आपस की फूट दो कांग्रेसियों पार्षदों की तू तू- मैं मैं के रूप में सामने आज खुलकर सड़कों पर आ गई।जिसमें कांग्रेस के वार्ड नंबर 4 से पार्षद एवं नगर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सुरेंद्र कालड़ा एव वार्ड नंबर 2 के पार्षद गोल्डी झांब पूर्व सांसद के सामने ही एक विकास कार्य के उद्घाटन मौके आपस में भिड़ गए। पार्षदों की तू-तड़ाक इस हद तक पहुंच गई कि अपने वार्ड के विकास कार्य में पहुंचकर मुख्य अतिथि पूर्व सांसद शेर सिंह घुबाया के साथ खड़े होकर फोटो खिंचवा रहे वार्ड नंबर 2 के पार्षद कुमार गौरव उर्फ गोल्डी झांब को वार्ड नंबर 4 के पार्षद एवं नगर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सुरेंद्र कालड़ा ने दुत्कार कर पूर्व सांसद से दूर कर दिया और अपने समर्थकों और वार्ड वासियों के साथ ही फोटो खिंचवाई।सत्ताधारी कांग्रेस पार्टी के मौजूदा पार्षदों की इस कदर सडक़ों पर पहुंची फूट का कारण भले ही कुछ भी रहा हो परंतु इससे पार्टी की छवि को काफी धक्का लगा है। 
बता दें कि पूर्व सांसद स्थानीय वार्ड नंबर 4 में स्टेट बैंक रोड का निर्माण की शुरूआत करवाने वार्ड पार्षद एवं नगर कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष सुरेंद्र कालड़ा के वार्ड में पहुंचे थे। और विधानसभा चुनाव में मिशन फतेह 2022 के प्रभारी बनाए गए वार्ड नंबर 2 के पार्षद कुमार गौरव उर्फ गोल्डी झांब भी आगे होकर पूर्व सांसद के साथ फोटो खिंचवाने लगे तो पार्षद कालड़ा ने उनके आगे आकर खड़े हो गए और अपने वार्ड के लोगों व समर्थकों को आगे आने के लिए आवाज लगाने लगे। गोल्डी झांब ने आगे आने का प्रयास किया तो कालड़ा ने कड़े शब्दों में उन्हें दुत्कारते हुए दूर रहने की चेतावनी दी। 
एक समय के लिए ऐसा लगा कि बात तू-तड़ाक से बढक़र हाथापाई पर भी पहुंच सकती है लेकिन शायद पूर्व सांसद की मौजूदगी के चलते और गोल्डी झांब द्वारा खुद ही एक तरफ जाकर खड़े हो जाने पर मामला शांत हो गया। लेकिन इस शांति के पीछे उठे तूफान का अंदेशा आसानी से लगाया जा सकता है क्योंकि देखते ही देखते दोनों नेताओं की आपसी तू-तड़ाक की वीडियो वायरल हो गई।
–वीडियो वायरल होने के बाद क्या कहां पार्षद सुरेंद्र कालड़ा ने।
 -बार-बार फोटो खिंचवाने के लिए आगे आने पर कहा पीछे हो जाओ: कालड़ा
इस बाबत जब वार्ड 4 के पार्षद एवं नगर कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष सुरेंद्र कालड़ा से बात की गई तो उन्होंने कहा कि वार्ड का कार्यक्रम था, वार्ड वासियों को आगे रखा जाना चाहिए। और उसके द्वारा बार-बार आगे आने पर मैंने इसलिए थोड़ा सा पीछे होने के लिए कहा। 
-वीडियो वायरल होने के बाद क्या कहते है पार्षद गोल्डी झांब –
इस पूरे मामले को लेकर जब वार्ड नंबर 2 के पार्षद गोल्डी झांब से बात की गई तो उन्होंने बताया कि चार नंबर वार्ड और 20 नंबर वार्ड की सड़क का निर्माण कार्य शुरू करवाना था और  रामा पाइप स्टोर पर पूर्व एमपी शेर सिंह घुबाया का चाय का कार्यक्रम रखा हुआ था। और प्रोटोकॉल के अनुसार मे हल्का इंचार्ज होने के नाते उनके साथ ही था। और चाय पानी पीने के बाद जब मुहूर्त वाले स्थान पर पहुंचे और मैं हल्का  इंचार्ज होने के नाते आगे भी मुहूर्त वाले स्थान पर प्रोटोकॉल के हिसाब से जाता हूं उसी के हिसाब से आज मैं जब वहां पर पहुंचे और जब मुहूर्त के वक्त फोटो होने लगी तो वार्ड नंबर 4 क पार्षद सुरेंद्र कालड़ा जीने मुझे धक्का मार कर पीछे होने को कहा जबकि मैंने उनसे इस बाबत कुछ भी नहीं कहा असल में चुनावों में जीत दर्ज कराने के बाद इनको प्रधानगी ना मिलने के लिए यह बौखलाए हुए हैं और जल्द ही आने वाले समय में इनकी ब्लॉक प्रधानगी  भी जाने वाली है। जिसके चलते इनकी बौखलाहट सामने आ रही है।मैने मौके की नजाकत को देखते हुए उसका कोई विरोध नहीं किया, यहां तक कि कोई शाब्दिक वार भी नहीं किया। उन्होंने पूर्व एमपी का अपमान कर अपना राजनीतिक कैरियर खत्म कर लिया है। पूर्व एमपी कालड़ा के व्यवहार से इतने आहत हुए हैं कि वह उनके घर रखी गई चाय पीने भी नहीं गए।
 
163 Views

Leave a Comment

error: Content is protected !!