Latest news
सामाजिक शिक्षा के क्षेत्र में युवाओं का प्रेरणास्रोत बन रही है-:भटका मुसाफिर किताब ਬੱਲੂਆਣਾ ਦੇ ਵਿਧਾਇਕ ਨੇ ਹਲਕੇ ਦੇ ਪਿੰਡ ਰਾਮਕੋਟ ਦਾ ਦੌਰਾ ਕਰਕੇ ਲੋਕਾਂ ਦਾ ਕੀਤਾ ਧੰਨਵਾਦ सिद्धू मूसेवाला की मौत आप सरकार की पूरी तरह नाकामी, सीएम मान और केजरीवाल का पुतला फूंका मूसेवाला हत्याकांड उत्तराखंड पुलिस ने हेमकुंड से लौट रहे 6 संदिग्‍धों को पकड़ा ਮੁੱਖ ਮੰਤਰੀ ਪੰਜਾਬ ਵੱਲੋਂ ਕੀਤੀ ਗਈ ਸਿਹਤ ਮੰਤਰੀ ਦੀ ਕਾਰਵਾਈ ਤੋਂ ਬਾਅਦ ਕਈਆਂ ਐਮਐਲਏ ਦੇ ਹੱਥ ਪੈਰ ਫੁੱਲੇ। फाजिल्का निवासी पवन ग्रोवर व सीमा ग्रोवर की आज शादी की 25 वीं वर्षगांठ जन्मदिन की शुभकामनाएँ उत्तर कोरिया ने जापान सागर में फिर दागी मिसाइल परमाणु परीक्षण करने की जताई गई आशंका दहेज के लिए परेशान करने वाले पति पर पर्चा दर्ज 3 ऐसे फूड्स जिन्हें खाकर 119 साल तक जीवित रहीं दुनिया की सबसे बुजुर्ग महिला केन तनाका

वाइस चांसलर से दुर्व्यवहार के मामले में सेहत मंत्री इस्तीफा- सुरजीत ज्याणी

फाजिलका-(दलीप दत्त)-  पंजाब के वरिष्ठ भाजपा नेता व भूतपूर्व स्वास्थ्य मंत्री चौ. सुरजीत कुमार ज्याणी ने पंजाब के मौजूदा सेहत मंत्री चेतन सिंह जौड़माजरा द्वारा बाबा फरीद यूनिवॢसटी के वाइस चांसलर व देश और एशिया के प्रख्यात सपाइन सर्जन डा. राज बहादुर के साथ की गई दुव्र्यवहार की कड़ी निदा की है।
प्रैस को जारी एक विज्ञप्ति के माध्यम से श्री ज्याणी ने कहा कि कल जो व्यवहार सेहत मंत्री जौड़माजरा ने डा. राज बहादुर जी के साथ किया, दरअसर वह इस सरकार का और खुद मंत्री के स्तर को दिखाता है। एक प्रख्यात सर्जन के साथ तो छोडिय़े किसी भी अफसर से एक मंत्री का इस तरह का व्यवहार अशोभनीय है। श्री ज्याणी ने कहा कि डा. राज बहादुर देश के ही नहीं एशिया के गिने चुने सपाइन सर्जनों में से एक हैं और इस उम्र में भी वो सरकारी संस्थानों में न केवल अपनी सेवाएं दे रहे हैं, बल्कि एक वाइस चांसलर होने के बावजूद अपने आफिस में मरीजों को देखते हैं और आपरेशन भी करते हैं। इससे उनकी अपने काम व समाज के प्रति प्रतिबद्धिता व सेवा भावना का अंदाजा लगाया जा सकता है। ऐसे व्यक्तित्व के साथ दुव्र्यवहार करना और वह भी उस कार्य के लिये जो सीधे तौर पर उसके अंतर्गत आता ही नहीं है। श्री ज्याणी ने कहा कि किसी भी मैडिकल कालेज या बड़े अस्पताल की व्यवस्था का इंचार्ज मैडिकल सुपरीडेंट होता है न कि वाइस चांसलर। ऐसा लगता है कि सिर्फ वाहवाही लूटने के लिये आप सरकार के मंत्री ने यह अशोभनीय व आमर्यादित्त व्यवहार कर डाला।
श्री ज्याणी ने कहा कि पंजाब में पहले डाक्टरों की भारी कमी है और डा. राज बहादुर जैसे डाक्टर तो पंजाब की धरोहर है। सेहत मंत्री के कल के कारनामे से पंजाब में सेहत सुविधाएं पूरी तरह से प्रभावित होंगी। मुख्यमंत्री भगवंत मान को चाहिये कि वह सेहत मंत्री से इस दुव्र्यवहार के लिये माफी मंगवाये या इस्तीफा दिलवायें। अन्यथा पंजाब के अस्पतालों के लिये तो छोडिय़े मोहल्ला क्लीनिकों में डाक्टर तक नहीं मिलेंगे।

35 Views
error: Content is protected !!