ई.टी.टी अध्यापक यूनियन ने बजाया संघर्ष का बिगुल, ब्लाक शिक्षा कार्यालय समक्ष किया रोष प्रदर्शन

जलालाबाद/फाजिलका-(दलीप दत्त)-ईटीटी अध्यापक यूनियन पंजाब के आह्वान पर आज पंजाब भर में प्राइमरी अध्यापकों के तबादले लागू न करने के रोष स्वरूप ब्लाक शिक्षा कार्यालयों के समक्ष रोष प्रदर्शन किए गए। इसी के चलते जलालाबाद के ब्लाक प्राइमरी कार्यालय समक्ष भी ईटीटी अध्यापकों ने तबादले को आगे बढ़ाने सबंधी जारी प्रतियों को आग के हवाले किया गया। आज यहां जारी प्रैस बयान में ई. टी.टी. अध्यापक यूनियन के ब्लाक प्रधान राधे शाम ने बताया कि शिक्षा विभाग ने तबादले की रस्म मुख्य मंत्री पंजाब से बटन दबाकर की थी परन्तु आज विभाग के अधिकारी मुख्य मंत्री के किये गए कार्यों को लागू करने में समर्तकता नहीं दिखा रहे हैं। जिस कारण पूरे पंजाब के प्राईमरों अध्यापक वर्ग में काफी रोष पाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इस संबंधी ईटीटी अध्यापक यूनियन पंजाब द्वारा शिक्षा विभाग द्वारा तबादलों को आगे बढ़ाने वाले पत्र फूंके गए। विनय मक्कड़ ने बताया कर 2004 से कर्मचारियों की पुरानी पेंशन स्कीम बंद की हुई है जबकि एक बार विधायक बन जाने पर विधायक को पेंशन लगा दी जाती है। उन्होंने कहा कि इस समाज में कानून और अधिकार सब के लिए बराबर है। फिर कर्मचारियों के साथ भद्दा मजाक क्यों? दो तरह के कानून क्यों? यदि पुरानी पेंशन स्कीम बहाल न की गई, पे-कमीशन जल्दी जारी न किया गया और महंाागाई भत्ता जो पिछले कई वर्षों से रोका हुआ, जारी न किया गया तो संगठन संघर्ष को तेज करेगी। इस मौके पर अमनदीप सिंह सोढी जिला कमेटी मैंबर ने कहा कि ई. टी.टी. अध्यक्षकों की मास्टर काडर की तरक्कियां जल्द की जाएं। नेताओं ने सरकार को चेतावनी दी कि यदि अध्यापकों की मांगों की तरफ ध्यान नाम दिया तो जत्थेबंदी तीखे संघर्ष के लिए मजबूर होगी। इस मौके जतिन्दर सिंह, हरचरन सिंह, विपन जलालाबादी, प्रभदीप सिंह, ओम प्रकाश लाधूका, संजीव कुमार, सुखविन्दर सिंह, तरविन्दर सिंह, हरमेश सिंह, सुखदेव सिंह, प्रदीप कुमार, मनीष कालडाा, अमनदीप धमीजा, नीरज गुम्बर, धीरज सुखीजा, गुरप्रीत सिंह, प्रमोद चुघ्घ, सुरजीत सिंह परूथी मौजूद थे।

21 Views

Leave a Comment




error: Content is protected !!