मुख्य मंत्री द्वारा अनुसूचित जातियों के 50 हजार के कर्जे माफ करने के किए ऐलान से अनुसूचित जातियों के कर्जदारों को 41.48 करोड़ रुपए की मिलेगी राहत

फाजिलका-(दलीप दत्त)- पंजाब अनुसूचित जाति भूमि विकास और वित्त निगम के चेयरमैन, इंजि. मोहन लाल सूद द्वारा पंजाब के मुख्य मंत्री द्वारा स्वतंत्रता दिवस मौके निगम से 31 मार्च 2021 तक कर्ज लेने वाले समूह कर्जदारों का 50 हजार रुपए तक का कर्ज माफ करने का ऐलान करके लगभग 10151 अनुसूचित जातियों के साथ संबंधित कर्जदारों को 41.48 करोड़ रुपए की बड़ी राहत दी है। मुख्य मंत्री पंजाब द्वारा किए इस ऐलान का चेयरमैन इंजि. सूद द्वारा स्वागत किया गया और यह लोग समर्थकी फैसला लेने पर धन्यवाद भी किया गया।चेयरमैन ने जानकारी देते हुए बताया कि उनके द्वारा विशेष तौर पर माननीय मुख्य मंत्री जी को 28 जून 2021 को एक डी.ओ पत्र लिख कर अति महत्वपूर्ण मुद्दा उन के ध्यान में लाया गया था कि जैसे पंजाब सरकार द्वारा राज्य में किसानों का कर्ज माफ करके राहत दी गई है उसी ही तर्ज पर अनुसूचित जातियों के गरीब लोगों का कर्ज भी माफ किया जाये क्योंकि कोरोना की महामारी दौरान छोटे कारोबारी जो कर्ज उठा कर अपना और अपने परिवार का गुजारा चला रहे थे, बुरी तरह प्रभावित हुए हैं जिस पर माननीय मुख्य मंत्री जी द्वारा हमदर्दी से विचार करके संबंधित अधिकारियों को कार्यवाही करन के आदेश किए गए थे। इंजि. सूद ने यह भी बताया कि कैप्टन अमरिन्दर सिंह, मुख्य मंत्री पंजाब जी के राज्य के गरीब अनुसूचित जातियों की भलाई के लिए हमेशा तत्व पर रहे और इसी लड़ी के अंतर्गत पहले भी पंजाब सरकार द्वारा निगम से 50 हजार तक का कर्ज प्राप्त करने वाले कर्जदारों का कर्ज माफ करके 14260 कर्जदारों को 45.41 करोड़ रुपए की भारी राहत दी गई थी। इस प्रकार कैप्टन सरकार द्वारा अनुसूचित जातियों के कर्जदारों को अपने मौजूदा कार्यकाल दौरान 86.89 करोड़ रुपए के कर्ज माफ करके बहुत बड़ी राहत दी है जिस के लिए वह कैप्टन साहब के शुक्रगुजार हैं। इस फैसले से दलित समाज में खुशी के लहर दौड़ गई है। निगम के चेयरमैन इंजि. सूद ने आगे बताया कि पंजाब सरकार द्वारा अनुसूचित जातियों के गरीब लोगों को केवल कर्ज माफी से राहत ही नहीं दी बल्कि पंजाब सरकार के घर घर रोजगार मुहैया करने के प्रमुख प्रोगराम अधीन अनुसूचित जातियों के गरीब लाभपात्रियों को स्वरोजगार शुरू करने के उद्देश्य से निगम की अलग-अलग स्कीमों साल 2019 -20 दौरान श्री गुरु नानक देव जी के महाराज के 550 वर्षीय प्रकाश पर्व को समर्पित विशेष कर्ज बांट मुहिम दौरान 1779 लाभपात्रियों को 15.35 करोड़ रुपए का कर्ज (समेत 1.35 करोड़ रुपए की सब्सिडी) दे कर बड़ी उपलब्धि हासिल की गई है। इस के अलावा ओरोना महामारी कारण लाकडाऊन होने के बावजूद भी साल 2020 -21 दौरान श्री गुरु तेग बहादुर जी के 400 साला प्रकाश पर्व को समर्पित मुहिम अधीन 2116 लाभपात्रियों को 22.94 करोड़ का कर्ज (समेत 1.65 करोड़ रुपए की सब्सिडी) बांट कर एक नया स्थान हासिल किया गया। उन्होंने आगे बताया कि मौजूदा वित्तीय को दौरान निगम अपनी स्थापना के 50 साल पूरे होने पर गोल्डन जुबली वर्ष के तौर पर मना रही है और इस ऐतिहासिक साल दौरान निगम की मुख्य सीधा कर्ज स्कीम अधीन कर्जे बांटने का लक्ष्य 500.00 लाख रुपए से बढ़ाकर 1000.00 लाख कर दिया गया है और इस संबंध में पंजाब के अलग-अलग शहरों में विशेष जागरूकता कैंप आयोजित करके कर्जदारों को कर्जे के मंजूरी पत्र बांटे जा रहे हैं इन प्रोग्रामों की लड़ी में मूलांपुर दाखा, बंगा, अमृतसर और रोपड़ में प्रोग्राम भी किए जा चुके हैं और आने वाले समय में पंजाब के ओर शहरों में भी इसी तरह के प्रोग्राम बनाए जाएंगे।

49 Views

Leave a Comment

error: Content is protected !!