कैप्टन सरकार की कोरोना संकट से लडऩे की नीति ‘अग्गा दौड़ पीछा चौड़’: अरूण वधवा

-कैप्टन सरकार की कोरोना संकट से लडऩे की नीति ‘अग्गा दौड़ पीछा चौड़’: अरूण वधवा
-कैप्टन सरकार की गलत नीतियों से बगावत पर उतर न आए पंजाब की जनता
-कोरोना संकट में घिरे लोगों के लिये आज तक कुछ नहीं किया कांग्रेस सरकार ने
-कांग्रेस सरकार की ऐसी बेसिर पैर नीतियों से राज्य में कोरोना खत्म होने वाला नहीं
-आम जनता के लिये काम करना केजरीवाल सरकार से सीखे कैप्टन सरकार
फाजिलका-(दलीप दत्त)-कैप्टन सरकार के पास कोविड-19 से लडऩे के लिये कोई नीति नहीं है और मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्द्र ङ्क्षसह व पूरी सरकार ‘अग्गा दौड़ पीछा चौड़’ नीति पर काम कर रही है जिससे पंजाब में कांग्रेस सरकार के खिलाफ बगावत के आसार पैदा हो गए हैं। उक्त उद्गार आम आदमी पार्टी के सीनियर ट्रेड विंग नेता अरूण वधवा ने व्यक्त किए।
 वधवा ने कहा कि कैप्टन सरकार के पास कोविड-19 से लडऩे के लिये कोई योजना नहीं है बल्कि तीर तुक्के लगाते हुए हर रोज नए आदेश जारी करते हुए जनता को परेशान किया जा रहा है और सबसे बड़ी बात यह कि कोरोना के संकट में घिरी जनता की सरकार कोई परवाह भी नहीं कर रही है। उन्होंने कहा कि आज मिन्नी लॉकडाउन के नाम पर दुकानदारों, रेहड़ी वालों, मजदूरों समेत प्रत्येक वर्ग को परेशान किया जा रहा है और सरकार की ऐसी बेसिर पैर नीतियों से राज्य में कोरोना खत्म नहीं होने वाला है क्योंकि सरकार के खुद मंत्री व विधायक ही कोविड के निर्देशों की उल्लंघना करने से पीछे नहीं हट रहे हैं।  वधवा ने कहा कि दिल्ली में अरविन्द केजरीवाल ने कोविड-19 में पिछले वर्ष से लेकर आज तक जनता हित में फैसले लिये हैं जिसके तहत आज मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल द्वारा 72 लाख राशन कार्डधारकों को दो दो महीने का मुफ्त राशन और दिल्ली के करीब डेढ़ लाख आटो और टैक्सी चालकों के खातों में 5-5 हजार रुपए जमा करवाने का ऐलान किया है जबकि कैप्टन सरकार ने आज तक जरूरतमंद वर्ग को राहत के नाम पर फूटी कौड़ी तक नहीं दी है।  वधवा ने कहा कि कांग्रेस ने आज राज्य की उद्योग व होटल इंडस्ट्री को खुड्डे लाइन लगाकर रख दिया है। पंजाब की होटल इंडस्ट्री जो कभी भी सरकार व प्रशासन की वंगारें झेलने में पीछे नहीं रही वो कांग्रेस सरकार की गलत नीतियों के कारण आज खत्म होने के कगार पर पहुंच चुकी है। उन्होंने कहा कि आज ढाबे से लेकर छोटे से बड़े होटल संचालकों को प्रतिदिन हजारों से लाखों रुपए का घाटा पहुंच रहा है लेकिन सरकार को कोविड संकट में होटल इंडस्ट्री को राहत देने के लिये कोई ऐलान नहीं कर रही है। वधवा ने कहा कि पिछले साल भी कोविड के समय में जनता से लेकर उद्योगों व होटल इंडस्ट्री से हर तरह के टैक्स वसूल किए गए और अब भी कोविड के कारण पूरी तरह से प्रभावित हो चुके लोगों को कांग्रेस सरकार को कोई राहत नहीं दे रही है। उन्होंने कहा कि आज पंजाब के छोटे दुकानदार, होटल, ढाबा, रेहड़ी, मजदूर से लेकर मध्यवर्गीय परिवार कांग्रेस सरकार की तरफ राहत की उम्मीदें लगाए बैठा है लेकिन कैप्टन सरकार हाथ पर हाथ धरे बैठी है।  वधवा ने कहा कि अगर सरकार ने शीघ्र ही कोरोना को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं की तो पंजाब में विरोध का ऐसी लहर उठेगी जिसे रोक पाना कांग्रेस सरकार के लिये मुश्किल हो जायेगा और इस स्थिति के लिये कांग्रेस सरकार पूरी तरह से जिम्मेदार होगी।

44 Views

Leave a Comment




error: Content is protected !!