कैप्टन सरकार ने कोरोना महामारी में किया फतेह किट घोटाला: अरूण वधवा

फाजिलका-(दलीप दत्त)- पंजाब की जनता को आज कोरोना के संकट में कांग्रेस सरकार से राहत व मदद की उम्मीद है, उस संकट के समय में भी कैप्टन सरकार अपनी जेबें भरने के मौके नहीं छोड़ रही है जोकि बेहद निंदनीय है और कांग्रेस सरकार को समय आने पर पंजाब की जनता को हिसाब देना पड़ेगा। उक्त उद्गार आम आदमी पार्टी के सीनियर ट्रेड विंग नेता अरूण वधवा ने व्यक्त किए।  वधवा ने कहा कि कांग्रेस सरकार की घोटालों की एक आदत बन गई है और आदत कभी भी जल्दी से नहीं जाती और वैसा ही कांग्रेस सरकार के साथ हो रहा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार का कार्यकाल माइनिंग घोटाला, नशा माफिया, स्कालरशिप घोटाला व वैक्सीनेशन घोटाला समेत अनेकों घोटालों से भरा पड़ा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार को कोरोना के संकट में भी घोटालों से शर्म नहीं आ रही है और यहीं कारण है कि कैप्टन सरकार फतेह किट घोटाला करने से भी पीछे नहीं हटी है। उन्होंने कहा कि इस फतेह किट कोटाला में पंजाब हरियाणा हाइकोर्ट ने हस्तक्षेप करते हुए जांच के आदेश दिए हैं।  वधवा ने कहा कि पंजाब सरकार द्वारा कोरोना पीडि़त मरीजों को फतेह किट देने के लिये टैंडर किया गया था और इस टैंडर में 78 नंबर पेज पर स्पष्ट रूप से लिखा है कि 6 महीने तक फतेह किट का रेट नहीं बढ़ाया जा सकता।  वधवा ने कहा कि सरकार द्वारा पहले टैंडर में फतेह किट 837.76 रूपए में खरीद की गई। लेकिन पहले टैंडर की शर्तों को दरकिनार करते हुए कांग्रेस सरकार ने भ्रष्टाचार करते हुए 3 अप्रैल को उसी किट का दोबारा टैंडर किया और 837.76 रूपए वाली किट 937 रुपए में खरीद की गई। इसी तरह से 20 अप्रैल को दोबारा टैंडर किया और उसी फतेह किट को 1226 रुपए में खरीदा गया। इसी तरह से 7 मई को उसी फतेह किट को 1338 रुपए खरीदा गया।  वधवा ने कहा कि फतेह किट को महज दो से तीन महीने में चार बार टैंडर करके खरीदा गया और इन चारों टैंडरों में 500 रुपए किट पर घोटाला किया गया। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार द्वारा फतेह किटें भी सिर्फ एक कंपनी सेे नहीं खरीदी गई बल्कि अलग अलग कंपनियों को आर्डर  दिए गए ताकि अधिक से अधिक कमीशन लेकर व भ्रष्टाचार कर अपनी जेबों को भरा जा सका। ‘आप’ नेेता अरूण वधवा ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने पहले कोरोना वैक्सीन प्राइवेट अस्पतालों को बेचने में बड़ा घोटाला किया और बाद में माफी मांगी। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार द्वारा कोविड वैक्सीनेशन 450 रुपए में खरीद कर प्राइवेट अस्पतालों को 1040 रुपए में बेची गई। लेकिन जब पूरा मामला जनता के सामने आए तो इस घोटाले को गलती का नाम देते हुए यह कहा गया कि प्राइवेट अस्पतालों से वैक्सीन वापस ली जाएगी। श्री वधवा ने कहा कि कांग्रेस और भ्रष्टाचार का चोली दामन का साथ है। उन्होंने कहा कि कोरोना के संकटकालीन दौर में कांग्रेस सरकार को जनता की मदद करनी चाहिए थी लेकिन उस दौर में भी कांग्रेस सरकार भ्रष्टाचार से पीछे नहीं हट रही है।  वधवा ने कहा कि कांग्रेस हो या फिर अकाली भाजपा, इन्होंने अपनी सरकार में अपने ही जेबें भरी हैं और जनता की कभी भी सुध नहीं ली। 

28 Views

Leave a Comment




error: Content is protected !!