कैप्टन सरकार द्वारा ऊंचे दामों पर कोरोना वैक्सीन को प्राइवेट अस्पतालों को बेचने की निंदा

-कांग्रेस सरकार ने चार वर्षों में भ्रष्टाचार के तोड़े सभी रिकार्ड: अतुल नागपाल
-कैप्टन सरकार द्वारा ऊंचे दामों पर कोरोना वैक्सीन को प्राइवेट अस्पतालों को बेचने की निंदा
फाजिलका-(दलीप दत्त)-प्रदेश की कैप्टन सरकार ने चार वर्षों के कार्यकाल में भ्रष्टाचार के सभी रिकार्ड तोड़ दिए हैं और मानवता को भी शर्मशार करते हुए प्राइवेट अस्पतालों को ऊंचे दामों पर कोरोना वैक्सीन बेचकर निंदनीय काम किया है। उक्त उद्गार व्यक्त करते हुए आम आदमी पार्टी ट्रेड विंग के प्रदेश ज्वाइंट सचिव अतुल नागपाल ने कहा कि कांग्रेस सरकार को ऐसी क्या जरूरत आ गई थी कि राज्य के प्राइवेट अस्पतालों को ऊंचें और महंगे दामों पर कोविड वैक्सीन बेची गई।  नागपाल नेे कहा कि कांग्रेस द्वारा कोरोना महामारी में अपने निजी फायदे के लिये कोवा वैक्सीन टीके की खुराक जोकि राज्य सरकार को 400 रुपए में मिलती है लेकिन कांग्रेस सरकार द्वारा निजी अस्पतालों में 1060 रूपए में बेचा गया और वहीं निजी अस्पतालों द्वारा आम लोगों से प्रति वैक्सीनेशन 1560 रूपए वसूले गए। उन्होंने कहा कि आपदा के संकट में सरकार का मुनाफा कमाने के तरीके ने हर जनमानस की भावनाओं को आहत किया है वहीं इससे कांग्रेस सरकार की असलियत भी सामने आ गई है।  नागपाल ने कहा कि अब पूरा मामले सामने गया है तो कांग्रेस सरकार द्वारा इसे ‘गलती’ कहते हुए प्राइवेट अस्पतालों से वैक्सीनेशन वापस लेने की बात कह रही है। ‘आप’ नेता अतुल नागपाल ने कांग्रेस की निंदा करते हुए कहा कि कांग्रेस ने पिछले चार सालों में एक भी ऐसा काम नहीं किया जिसे उपलब्धि कहा जा सके। उन्होंने कहा कि  कांग्रेस के विधायक व मंत्री आपस में लड़ रहे हैं और मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्द्र ङ्क्षसह अपनी कुर्सी बचाने के लिये राहुल गांधी व सोनिया गांधी के समक्ष हाजरी लगाते फिर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार को जनता की कोई चिंता नहीं है और कांग्रेस सरकार ने कोरोना के संकट में जरूरतमंद लोगों को एक छोटी सी भी राहत प्रदान नहीं की है।  नागपाल ने कहा कि इसके विपरीत दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में जरूरतमंदों की मदद करने में कोई कमी नहीं रहने दी।

20 Views

Leave a Comment




error: Content is protected !!