केन्द्र सरकार द्वारा भेजे गए खराब वैंटीलैंटरों के लिये सीधे रूप से कैप्टन सरकार जिम्मेदार: अतुल नागपाल

-केन्द्र सरकार द्वारा भेजे गए खराब वैंटीलैंटरों के लिये सीधे रूप से कैप्टन सरकार जिम्मेदार: अतुल नागपाल
-केन्द्र की तरफ से भेजे वैंटीलैंटरों को रिसीव करते समय क्यों नहीं जांचा परखा?
-वैंटीलैंटर आंवटन में बड़ा घोटाला, सुप्रीम कोर्ट के जज से करवाई जाए जांच
-कांग्रेस सरकार के पास कोरोना से लडऩे के लिये कोई योजना नहीं
-एक तरफ दुकानें बंद लेकिन शराब के ठेके खुले हैं सरेआम
फाजिलका-(दलीप दत्त)-केन्द्र सरकार द्वारा कोरोना के संकट में भेजे गए वैंटीलैंटरों के खराब निकलने के लिये के लिये सीधे रूप से कैप्टन सरकार जिम्मेदार है और इस पूरे मामले की सुप्रीम कोर्ट के जज से स्वतंत्र जांच करवाई जानी चाहिए। उक्त उद्गार व्यक्त करते हुए आम आदमी पार्टी ट्रेड विंग के प्रदेश ज्वाइंट सचिव अतुल नागपाल ने कहा कि आज पंजाब में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के लिये सीधे रूप से केन्द्र व पंजाब सरकार जिम्मेदार है और पंजाब की कैप्टन सरकार किसी भी तरह से अपनी जिम्मेदारी से भाग नहीं सकती है।  नागपाल ने कहा कि हम बाजार में कोई भी सामान खरीदने जाते हैं और वो सामान चाहे सौ रूपए का हो या फिर हजारों रुपए का लेकिन हम उसकी गुणवत्ता को जांचते और परखते हैं। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा जो वैंटीलेंटर भेजे गए थे जोकि इंसान की जिंदगी से सीधे रूप से संबंध रखते थे लेकिन उन्हें रिसीव करते समय उन्हें क्यों नहीं जांचा गया कि यह खराब या ठीक हैं। आज जब केन्द्र सरकार ने पंजाब को भेजे गए वैंटीलेटरों का ब्यौरा मांगा है तो उसे खराब बताया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस पूरे मामले में एक घोटाले की बदबू आ रही है जिसकी जांच सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश से करवाई जानी चाहिए।  नागपाल ने कहा कि कोरोना के संकट में आज हरेक वर्ग त्रस्त है और पंजाब के सरकारी अस्पतालों में कोई इंतजाम नहीं हैं। अस्पतालों में कोविड मरीजों का इलाज कर रहे डाक्टरों व स्टाफ को मुहैया करवाए जा रही पीपीई किटें व दस्ताने फटने की बातें सामने आ रही हैं लेकिन सरकार इस संकट के समय में भी अपनी जेबें भरने में लगी है। उन्होंने कहा कि एक साल बीत जाने के बावजूद भी पंजाब में कोरोना से निपटने के लिये कोई प्रबंध नहीं किए गए हैं।  नागपाल ने कहा कि एक तरफ कोरोना के खात्मे के लिये छोटे दुकानदारों व रेहड़ी वालों तथा दिहाड़ीदारों के काम बंद करवाए जा रहे हैं वहीं शराब ठेकों को सरेआम खोलने की मंजूरी दी जा रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार के पास कोरोना से लडऩे की कोई नीति नहीं है बल्कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्द्र ङ्क्षसह और उनकी सरकार आपस में ही लड़े बैठे हैं और एक दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं।  नागपाल ने आरोप लगाते हुए कहा कि विवादों में फंसते मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्द्र ङ्क्षसह ने मंत्रिमंडल में फेरबदल करने का लालीपॉप दे दिया है ताकि उनके खिलाफ आवाज उठाने वाले कांग्रेस विधायकों को चुप करवाया जा सके। ‘आप’ नेता अतुल नागपाल ने कहा कि कोरोना के इतने बड़े भयंकर संकट में पंजाब सरकार ने आज तक गरीबों व जरूरतमंदों की सुध नहीं ली है बल्कि आए दिन नए नए आदेश लागू कर आम जनता जर्नादन को परेशान किया जा रहा है। 

56 Views

Leave a Comment




error: Content is protected !!