Latest news
गांव चक्क जानीसर में दलित नौजवान की मारपीट के मामले में पेशाब ... गुरूद्वारा श्री सिंह सभा और पैस्टीसाईड और खाद विक्रेताओं ने वि... कृषि कानून के विरोध में किसानों द्वारा विरोध प्रदर्शन जारी व्यक्ति का कत्ल करने वाली एक परिवार के चार सदस्यों पर पर्चा दर... दहेज के लिए बहू को तंग परेशान करने वाले तीन ससुरालियों पर पर्च... धान का कुट्टल चोरी करने के मैसर्ज अक्षित राज नारंग एंड ट्रेेडि... सवना द्वारा जरूरतमन्द परिवार की लडकी के विवाह में किया गया सहय... पंजाब राज सफाई कर्मचारी कमीशन के चेयरमैन द्वारा जानीसर मामले क... अनाज मंडी में किसानों के साथ हो रही बेनियमियों के खिलाफ किसानो... 2 करोड़ रुपए की लागत से विकास कार्यो को विधायक आवला ने दी हरी ...

कृषि बिल पास करवाकर केन्द्र सरकार ने पंजाब के किसानों को लावारिस किया







जलालाबाद/फाजिलका-(दलीप दत्त)-  हमारे देश की सरकार ने कृषि से सबंधत तीन बिलों को पासकर किसानों को लावारिस कर दिया है और 27 सितंबर के दिन को काले दिन के रूप में जाना जाएगा। ये विचार समाज सेविका प्रीति बबूटा ने मीडिया के साथ बातचीत करते हुए प्रगट किए। प्रीति बबूटा ने कहा कि इस कानून के साथ जहां पंजाब के किसानों के अधिकारों को लूटा गया है तो वहीं जम्मू कश्मीर के कार्यालयों में पंजाबी भाषा को रद्द करने का भी कानून पास कर दिया गया है और ये पंजाबी भाषा के बढ़ते अस्त्तिव पर चोट है। प्रीति बबूटा ने कहा कि केन्द्र सरकार किसानों के अधिकारों को कारोपेरेट घरानों को देने जा रही है और केन्द्र के इस मंदभागे फैसले से पूरा पंजाब रोष में है। 

30 Views



Leave a Reply

error: Content is protected !!