Latest news
एसडीएम द्वारा व्यापार मंडल व अन्य संस्थाओं तथा लोगों को कोरोना... बीजेपी और गऊशाला सेवा समिति ने 1992 में मंदिर निर्माण को लेकर ... श्री राम मंदिर भूमि पूजा करने की पूर्व संध्या और लगाए 493 पौध पर्यावरण को बचाने के लिए बहुपर्तीय वर्ष लगाए फार्मासिस्टों और दर्जा चार कर्मचारियों का धरना 47वें दिन में श... सावन माह के आखिरी सोमवार को ठंडे ठंडे सेब की मुरब्बे का भंडारा... सरकारी प्राइमरी स्कूल सुलतानपुरा (नीम वाला स्कूल) को दूसरी बार... लोगों को अलग-अलग बीमारियों से बचाने के लिए नगर कौंसिल फाजिल्का... आप पार्टी के नेताओं ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पुलिस द्वारा दर्ज क... लायंस क्लब विशाल ने वितरित की राशन की 31 किट्टें

डा. गुप्ता ने महिला की बच्चेदानी से साढ़े 6 किलो वजनी रसौली का सफल आपरेशन कर महिला को दिया नया जीवन







गरीब व मध्यमवर्गीय परिवारों के लिए वरदान साबित हो रही है आयुष्मान भारत योजना

फाजिलका-(दलीप दत्त)-केंद्र और राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही सेहत बीमा योजना जिसे केंद्र की ओर से आयुष्मान भारत योजना और पंजाब में सरबत सेहत बीमा योजना का नाम दिया गया है, गरीब व मध्यमवर्गीय परिवारों के लिए वरदान साबित हो रही है। इस योजना में 5 लाख रुपये तक का इलाज चाहे वो आपरेशन हो, पूरी तरह निशुल्क किया जाता है। न केवल सरकारी अस्पतालों में बल्कि सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त अनेक निजी अस्पताल भी इस योजना के तहत निशुल्क इलाज कर रहे हैं। उन्हीं निजी अस्पतालों में फाजिल्का का गुप्ता हास्पिटल भी सर्जरी मामलों में क्षेत्र के लोगों के इलाज में अहम भूमिका अदा कर रहा है। हाल ही में गुप्ता हास्पिटल की ओर से एक महिला की बच्चेदानी से साढ़े 6 किलो वजनी रसौली का सफल आपरेशन कर महिला को नया जीवन प्रदान किया है।

जानकारी के अनुसार मंडी लाधूका के नजदीकी गांव फतेहगढ़ निवासी बलविंदर सिंह की 41 वर्षीय पत्नी राज रानी को पेट दर्द की समस्या रहती थी। जांच करवाने पर बच्चेदानी में रसौली होने का पता चला। गुप्ता हास्पिटल के संचालक एवं क्षेत्र के माहिर सर्जन डा. रमेश गुप्ता ने बताया कि महिला का आपरेशन आयुष्मान भारत योजना और सरबत सेहत बीमा योजना के तहत किया गया जोकि पूरी तरह निशुल्क रहा। सर्जन डा. गुप्ता ने बताया कि यह बेहद जटिल था क्योंकि रसौली की जड़ें बच्चेदानी के साथ साथ आंतड़ी और ब्लैडर तक फैली थीं, उस रसौली को हटाने के आपरेशन में 3 घंटे लगे। इस दौरान 4 बार महिला को रक्त चढ़ाना पड़ा, लेकिन लंबी सर्जरी के बाद आखिरकार साढ़े 6 किलो वजनी रसौली निकालकर आपरेशन सफलतापूर्वक संपन्न हो गया।

-बेहतरीन सेवाओं के लिए गुप्ता हास्पिटल का हृदय से आभारी: बलविंदर सिंह

आपरेशन करवाने वाली महिला के पति बलविंदर सिंह ने इस जटिल आपरेशन के लिए गुप्ता हास्पिटल के सर्जन डा. रमेश गुप्ता व उनकी पूरी टीम का धन्यवाद किया। बलविंदर सिंह ने ये भी बताया कि सरबत सेहत बीमा योजना में न केवल 4 जुलाई को आपरेशन पूरी तरह निशुल्क हुआ है बल्कि उसके बाद हास्पिटल में रहने, दवाओं और अब छुट्टी के बाद दवाओं और आपरेशन के टांके खुलवाने का खर्च नहीं देना पड़ा बल्कि योजना के तहत पूरी तरह निशुल्क हुआ है।

-पहले भी गुप्ता हास्पिटल दे रहा सराहनीय सेवाएं

जिले के माहिर सर्जनों में शुमार डा. रमेश गुप्ता के गुप्ता हास्पिटल में आयुष्मान भारत योजना के तहत गुर्दे की पत्थरी, पित्ते की पत्थरी, महिलाओं के आपरेशन, छाती में गांठ के आपरेशन व विशेषकर एक्सीडेंट केसों में होने वाली सर्जरी में सराहनीय सेवाएं दे रहा है। आमतौर पर इन बड़े आपरेशनों में निजी अस्पतालों के भारी भरकम खर्च की वजह से गरीब व मध्यमवर्गीय परिवार बड़े अस्पतालों की सेवाओं का लाभ नहीं उठा पाते थे लेकिन अब सरबत सेहत बीमा योजना में गुप्ता हास्पिटल की सेवाओं का फायदा हर वर्ग के लोग उठा रहे हैं। 

 

63 Views


Leave a Reply

error: Content is protected !!