Latest news

स्वास्थ्य विभाग की तरफ से मनरेगा अधीन काम करन वालों के लिए सफ़ाई और स्वच्छता बनाई रखने बारे की गई अडवाइजरी जारी







 

फाजिलका-(दलीप दत्त)-स्वास्थ्य और परिवार भलाई मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू द्वारा कोविड -19 के मद्देनजर मनरेगा अधीन काम करने वालों के लिए सफाई और स्वच्छता बनाए रखने संबंधी की गई अडवाइजरी बारे जानकारी देते सिवल सर्जन डा सुरिन्दर सिंह ने बताया कि पंजाब सरकार द्वारा कोरोना वायरस के फैलाव /प्रसार को काबू करने के लिए लोक हित में सभी 22 जिलों में कफ्र्यू लगा कर लोगों की गतिविधियों पर सख्त पाबंदियां लगाई गई हैं। चाहे सरकार ने मनरेगा अधीन काम करने वाले श्रमिकों की मुश्किलें को घटाने के लिए जरूरी गतिविधियां फिर शुरू करने की आज्ञा दी है। फिर भी कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए जरूरी दिशा निर्देशों की पालना को यकीनी बनाना जरूरी है। उन्होंने कहा कि दिसा निर्देशों अनुसार मनरेगा अधीन सुपरवाइजरी सरपंच,जी.आर.एस., श्रमिकों के साथ-साथ काम शुरू करने वाले क्षेत्रों में निर्देशों का पालन करना यकीनी बनाने के लिए सुपरवाइजर एक व्यापक कार्य योजना इस ढंग के साथ विकसित कर सकता है कि वह काम वाली जगह पर रिपोर्ट करने के समय पर मनरेगा कर्मचारियों को काम दौरान आराम देने के समय सोशल डिस्टैंस बारे बताते हुए आपस में कुछ फासला रखे जिस के साथ काम भी समय सिर मुकम्मल हो जाए और काम में कोई रुकावट भी न आए। इसी तरह, कार्य क्षेत्र को कार्य वाली जगह पर इस तरह निर्धारित किया जाएगा कि मनरेगा कर्मचारियों दरमियान कम से -कम 1 मीटर की सामाजिक दूरी के नियम को कायम रखा जा सके। डा. सुरिन्दर ने आगे कहा कि बुखार या अन्य लक्षण जैसे खांसी /सांस लेने में तकलीफ महसूस करने वाले मनरेगा कर्मचारियों को घर में ही रहने और डाक्टरी सलाह लेने के लिए प्रेरित किया जाये। मनरेगा वर्करों को सलाह दी जाए कि वह किसी के साथ हाथ न मिलाएं या किसी को गले न लगाएं। मनरेगा स्टाफ को बिना काम से न घूमें और उन के निर्धारित क्षेत्र /साइट से ही काम करने की सलाह दी जाए।इस मौके जिला मास मीडिया अधिकारी अनिल धामू कहा कि सरपंच /जीआरएस समेत सभी को हर समय कपड़े के मास्क पहनने चाहिएं। मास्क को इस ढंग के साथ पहना जाना चाहिए कि यह नाक के साथ-साथ मुंह को भी कवर करे। कपड़े के मास्क को प्रयोग बाद रोज साबुन और पानी के साथ धोना चाहिए। हाथ धोने और रोगाणु -मुक्त करने संबंधी दिशा-निर्देशों को विस्तार से बताते, उन्होंने कहा कि कार्य वाली जगह पर अपेक्षित मात्रा में पानी और साबुन की उपलब्धता को यकीनी बनाया जाए। मनरेगा वर्करों को प्रेरित किया जाए कि जब भी हाथ धोने का मौका मिले, वह कम से -कम हाथों को 40 सेकिंड तक अच्छी तरह हाथ धोने, के साथ ही वह हथेली, हाथ का पिछला पासा, उंगलियां और अंगूठे के बीच भी अच्छी तरह साबुन और पानी के साथ हाथ साफ करें। हर दो घंटे बाद हाथ धोने के लिए प्रेरित किया जाए। उपर बताए अनुसार काम शुरू करने से पहले और काम करने के बाद हाथ लाजिमी तौर पर साबुन और पानी के साथ धोने चाहिएं। उन्होंने कहा कि अगर कोई मनरेगा कर्मचारी तेज बुखार /खांसी /छींक / सांस लेने में मुश्किल महसूस करे, तो वह खुद सुपरवाइजर को इस की जानकारी दे और समय सिर बीमारी का पता लगाने और इलाज के लिए तुरंत डाक्टरी सलाह ले। मनरेगा कर्मचारियों को एक दूसरे से इंफैक्शन को रोकने के लिए उन को एक दूसरे के साथ दोपहर के खाने /स्नैक्स इकट्ठे नहीं खाने चाहिए।अगर कोई काम दौरान संपंर्क में आने करके कोविड -19 से पीडित पाया जाता है तो उसे घबराने की जरूरत नहीं है। किसी को हेल्पलाइन नंबर 104 जा सिविल सर्जन फाजिल्का के कोविड कंट्रोल रूम नंबर 01638 -264105 को रिपोर्ट करनी चाहिए, जिससे बीमारी का सही कारण पता लग सके और पीडित की आगे वाली कार्यवाही के लिए डाक्टर की सहायता उपलब्ध करवाई जा सके।

46 Views


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!