Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
Mon. Aug 19th, 2019

Punjab Varta

Hindi news Website

शिक्षा विभाग की नई पहल दफ्तरों के चक्करों से मिलेगा छुटकारा-

1 min read
Spread the love

दया के आधार पर नौकरी देने वाली फाईल विभाग के अधिकारी करवाएंगे पूरी

फाजिलका -(नसीब कौर/दलीप दत्त)-पंजाब के सरकारी कार्यालयों में होती खजल-खराबी को देखते हुए शिक्षा विभाग पंजाब एक नई पहल करने जा रहा है। शिक्षा मंत्री विजय इंद्र सिंगला, शिक्षा सचिव कृष्ण कुमार के दिशा-निर्देशों पर राज्य भर के जिला शिक्षा अधिकारियों को पत्र जारी करके निर्देश दिए गए हैं कि सेवाकाल के दौरान शिक्षा विभाग के मृतक परिवारों को दया के आधार पर नौकरी देने के लिए आने वाली मुश्किलों का हल किया जाए, संबंधी जिला अधिकारी तथा सुपरीडेंट स्वंय पीडि़त परिवारों तक पहुँच करके नौकरी प्राप्ती की फाईल को पूरा करवाएं और समय पर केस विभाग को भेजा जाए। इस संबंधी जानकारी देते हुए प्रिंसीपल हंस राज ने बताया कि शिक्षा मंत्री पंजाब की आगे बढऩे की सोच के कारण डॉयरेक्टर प्रशासन द्वारा यह यह पत्र जारी किया गया है इसके साथ सुपरीडेंट जिला शिक्षा कार्यालय स्वंय पीडि़त परिवार तक पहुँच करेगा और नौकरी प्राप्ती के लिए कौन-कौन से दस्तावेज चाहिए तथा यह कैसे पूरे करवाए जाएंगे इस संबंधी पूरी जानकारी दी जायेगी। ऐसा करने के साथ पीडि़त परिवारों को दफ्तरों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे और मृतक कर्मचारी के सारे भुगतान और परिवार को नौकरी सहज ही मिल जायेगी। सरकार की इस नीति पर अमल करते हुए मंगलवार को जिला शिक्षा अधिकारी (सै.सि.) कुलवंत सिंह के निर्देशों अनुसार कार्यालय सुपरीडेंट सचिन बब्बर, प्रिंसीपल हंस राज तथा नरिंदरपाल सिंह को साथ लेकर मंडी रोड़ांवाली के मृतक सेवादार सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल अरनीवाला दलजीत सिंह के घर पहुँचे और उसकी पत्नी सिमरजीत कौर के साथ मुलाकात की गई और दया के आधार पर नौकरी देने का मामला गंभीरता से विचारा गया। सुपरीडेंट सचिन बब्बर ने जानकारी देते हुए बताया कि वह पीडि़त परिवार की दया के आधार पर नौकरी देने वाली फाईल का 90 प्रतिशत काम पहले ही पूरा कर चुके हैं तथा बाकी रहता काम 15 दिनों के भीतर पूरा करके फाईल विभाग को भेज दी जायेगी। स्व. सेवादार की पत्नी सिमरनजीत कौर ने बातचीत करते हुए कहा कि उसको तो यकीन ही नहीं हो रहा कि शिक्षा विभाग इतना अच्छा कार्य कर सकता है क्योंकि उसको अपने पति की मृत्यु का सर्टीफिकेट और पोस्टमार्टम रिपोर्ट लेने में बड़ी मुश्किलें आई थी और वह शिक्षा सचिव की इस पहल की पूरजोर प्रशंसा करती है। जिला शिक्षा अधिकारी कुलवंत सिंह ने बताया कि जिले के जितने भी केस हैं वह गंभीरता से ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि वह शिक्षा विभाग तथा माननीय मंत्री साहिब के निर्देशों अनुसार ही सारी कार्रवाई कर रहे हैं जिला फाजिल्का के अंदर किसी भी पीडि़त परिवार को दया के आधार पर नौकरी प्राप्त करने में मुश्किल नहीं आएगी।

31 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Punjab Varta Social