Breaking News

ज्योति बी.एड. कॉलेज में किया गया पर्यावरणानुकूल दीपावली का आयोजन







फाजिलका-(दलीप दत्त)-स्थानीय ज्योति बी.एड. कॉलेज में सरलतापूर्वक ढंग से दीपावली का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम का आयोजन वायडब्ल्यूसी के प्राध्यापक रेनुका, सुनैना और अनिल गहलोत के निरीक्षण में करवाया गया। इस कार्यक्रम में बी.एड. और डी.एल.एड. के भावी अध्यापकों ने रंगोली बनाकर अपनी कला का प्रदर्शन किया और यह संदेश दिया कि जिस प्रकार रंगोली आपस में मिल-जुलकर रंगोली की शोभा बढ़ाते है उसी प्रकार हमें भी दीपावली के अवसर पर भाईचारे के रंगों में रंग जाना चाहिए। इस अवसर पर कॉलेज की प्राचार्य अनीता अरोड़ा ने बधाई देते हुए कहा कि दीपावली मनाने की सार्थकता तब ही है कि अगर हम सबसे पहले खुद में बदलाव लाते हुए दीपावली पर पटाखे चलाने की परंपराका त्याग करें और पर्यावरण को प्रदूषित होने से बचाए। उन्होंने कहा कि दीपावली परपटाखे से प्रदूषण ही नहीं होता अपितु उनसे पैदा होने वाला धुआं अनेक बीमारियों का कारण बनता है। उन्होंने बताया कि इस अवसर पर लोग अपने घरों की सफाई तो कर लेते है परन्तु वो यह नहीं जानते कि उनके द्वारा चलाए गए पटाखे पूरे पर्यावरण को दूषित कर देते हैं। उन्होंने विद्यार्थियों से ग्रीन दीपावली मनाते हुए पटाखों से दूर रहने का आह्वान का। इस मौके पर भावी अध्यापकों द्वारा ग्रीन दीपावली के तहत पटाखें नबजाने का संकल्प लिया गया। उन्होंने बताया कि पहले के समय में लोग अपने रिश्तेदारों से मिलकर और मिठाईयां बांटकर दीपावली की बधाई देते थे परन्तु आजकल लोग अपनी अमीरी का दिखावा करते हुए महँगे उपहार भेंट करते हैं। इस दिन लोग सुख समृद्धि की कामना करते हुए माँ लक्ष्मी की पूजा करते हैं, लेकिन यह भूल जाते हैं कि समृद्धि का अर्थ केवल अपने तक ही सीमित नहीं बल्कि पूरे समाज को समृद्ध करना है। कॉलेज में सभी अध्यापकों तथा भावी अध्यापकों को जलपान करवाया गया। साथ ही बी.एड. कक्षा के भावी अध्यापकों ने जोनल स्तरीय युवा एंव सांस्कृत मेले में अपनी कक्षा का प्रदर्शन करते हुए कई पुरस्कार जीते। यह मेलेा कैनवे कॉलेज आॅफ एजुकेशन अबोहर में आयोजित किया गया। कॉलेज प्राचार्य ने बताया कि बी.एड. कक्षा के भावी अध्यापक राकेश ने फोटोग्राफी, पूजा ने क्रोस सटिच, कृष्ण ने ढोलक वादन में द्वितीय स्थान तथा हेम राज ने रस्सा वटना में तृतीय स्थान हासिल किया। प्राचार्य अनीता अरोड़ा ने भावी अध्यापकों को बधाई देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की और कहा कि दीपावली का पर्व मनाते समय दूसरों की खुशी का ध्यान रखें और जरूरतमंदों की मदद करते हुए उनको खुशी प्रदान कर स्वंय भी खुशियों के भागी बनें।

33 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!